Breaking
तेजप्रताप यादव बोले- हमेशा हमारे टच में रहते हैं ‘शत्रुघ्न अंकल’, पार्टी में आएं तो स्वागतबेटी के बाद CM केजरीवाल को जान से मारने की धमकीदो बदमाश ने डांसरों से की मारपीट गाली-गलौज, घर में लगाई आग, 14 पर हुआ एफ आई आर दर्जअयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण को लेकर जगदीशपुर के हिंदू युवाओं ने किया हवन पूजनछिनतई का विरोध करने पर अपराधियों ने फौजी सहित दो को मारी गोली, दोनों पटना रेफरफ़िल्म व कविता लेखन की कार्यशाला में बने फिल्मों का हुआ प्रदर्शनDLED प्रशिक्षु शिक्षकों का दो वर्षीय प्रशिक्षण का समापन सह सम्मान समारोहमोतिहारी में मुखिया के घर डबल मर्डर से इलाके में सनसनी, जांच में जुटी पुलिसहाथ जोड़कर जान की भीख मांगता रहा DSP, भीड़ ने पीट-पीटकर किया अधमराफ़िल्म मेकिंग व कविता की कार्यशाला का दूसरा दिन भी बनी 25 फिल्में ,कल होंगी प्रदर्शित कार्यशाला में निर्मित फिल्में

24 घंटे रेलवे ट्रैक की हो रही है निगरानी, बरसात बाद कटाव से स्थाई निदान की होगी निर्णय-डीआरएम

 

आशिष कुमार झा, टुडे बिहार न्यूज संवाददाता (सहरसा)

 

ब्यूरो : राकेश यादव

सहरसा। समस्तीपुर रेल मंडल के डीआरएम रविंद्र कुमार जैन ने सहरसा-मानसी रेलखंड अंतर्गत पनगो हाल्ट का ट्राली से निरीक्षण कर दावा किया कि इस रेलखंड में फिलहाल कही भी कोसी नदी का दबाव नही है।डीआरएम जैन ने पुल नंबर 47 से लेकर कोसी नदी के हर बिंदुओं का निरीक्षण किया।उन्होंने फनगो हाल्ट से धमारा घाट रेलवे स्टेशन सहित मानसी रेलवे स्टेशन का भी निरीक्षण किया।डीआरएम ने बताया कि अभी यहां ट्रैक पर ना ही कोसी नदी का दबाव है और न ही कटाव हो रहा है।एहतियातन बोल्डर एकत्रित कर रखा जा रहा है।अभी पांच रैक और बोल्डर आएगा।जरूरत पड़ी तो बोल्डर क्रेटिंग का कार्य शुरू किया जाएगा।बरसात के बाद नदी के कटाव से इस रेलखंड को बचाने के लिए स्थाई निदान करने का निर्णय लिया जाएगा।तीन वाचमेन से 24 घंटे रेलवे ट्रैक की निगरानी कराई जा रही है।निरीक्षण के क्रम में इनके साथ सीनियर डीईएन कोडिनेशन महबूब आलम,सीनियर डीईएन थ्री संजय कुमार,पीडब्लूआई अजय कुमार भी मौजूद रहे।

पिछले वर्ष 2016 में ट्रेक बढ़ा अधिक दबाव:

 

पूर्व मध्य रेलवे के सहरसा – मानसी रेलखंड के फनगो हॉल्ट स्थित कटाव स्थल का शुक्रवार को समस्तीपुर रेलमंडल के डीआरएम आर के जैन ने निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने अधिकारियो को जरूरी दिशा निर्देश दिये। डीआरएम ने जयनगर – कटिहार जानकी एक्सप्रेस से शुक्रवार सुबह फनगो हॉल्ट कटाव स्थल पहुंचे। फनगो पहुँचने पर ट्रॉली के माध्यम से फनगो के निकट पुल संख्या 47 से कोपरिया तक के बीच कटाव स्थल का जायजा लिया। इस दौरान डीआरएम ने अधिकारियो को रेल ट्रैक किनारे हो रहे कटाव व रेल ट्रैक को धंसान पर कड़ाई से निगरानी रखने का निर्देश दिया। मौके पर महबूब आलम, डीइएन थ्री संजय सिंह, एइएन दुर्गा प्रसाद, आईओडब्लू संजीव कुमार, पीडब्लूआई अजय कुमार व अन्य मौजूद थे।
जानकारी के अनुसार पिछले दिनों कोसी नदीं के जलस्तर में उतार चढ़ाव से फनगो हॉल्ट के समीप स्पर संख्या 5 एवं 6 एवं रेल ट्रेक पर पानी का दबाव बढने की संभावना बढ़ गई थी।
पूर्व मध्य रेलवे के सहरसा-मानसी रेलखंड पर फनगो हाल्ट के समीप रेल पटरी पर कटाव का खतरा बढ़ गया था। लगातार हो रही बारिश के बीच पटरी के समीप हो रहे धसना से रेल परिचालन बाधित होने की आशंका थी।
हालांकि रेल प्रशासन ने पिछले दिनों सुरक्षा के दृष्टिकोण से कोपरिया – धमारा घाट रेलवे स्टेशन के बीच फनगो हॉल्ट को लेकर कौशन लगा कर ट्रेन की रफ्तार घटा थी।
वर्ष 2016 में कटाव के दौरान नदी पटरी के काफी नजदीक पहुंच गया था। तब रात दिन युद्धस्तर पर कटाव निरोधी कार्य शुरू कर पटरी को कटने से बचा लिया गया है। हालांकि फिलहाल रेलवे के अभियंता रेल पटरी को किसी तरह का खतरा नहीं होने की बात कहते थे। किंतु, कटाव के रुख को देखते हुए उनके भी होश उड़े हुए हैं।
बारिश के कारण पिछले दिनों सहरसा – मानसी रेलखंड के कोपरिया होम सिंग्नल के पास
बारिश से कोपरिया होम सिंग्नल के निकट कई जगहों पर ट्रैक धंस गया और होम सिंग्नल पूरी तरह झुक गया था। रेल से जुड़े अधिकारियो को इसकी सूचना दी गई और आनन – फानन में सुबह चार बजे से ही तेज बारिश के बीच रेल सिंग्नल और ट्रैक को दुरुस्त करने का काम किया गया।

कई जगह हुआ धंसान:-

पिछले दिनों बारिश की वजह से रेल ट्रैक पर जलजमाव हो गया.जलजमाव का पानी काफी मात्रा में अंदर चला गया। जिसके बाद मिट्टी खिसक गई और ट्रैक धंस गया था। वही ट्रैक के बगल में स्थित रेल सिंग्नल भी पूरी तरह झुक गया.बताया जाता है कि भारी बारिश की वजह से कोपड़िया होम सिंग्नल के आसपास सात जगह और फनगो हॉल्ट के पास एक जगह ट्रैक धंस गई थी।

 

Share this
Show Buttons
Hide Buttons