Breaking
अपने पति के घर मे छुपी थी पूर्व मंत्री मंजू वर्मा , कोर्ट में सरेंडर करते ही हो गई बेहोशअपराधियों ने अभी अभी युवक को सिर में मारी गोली मौत, पुलिस पहुंची घटनास्थल परमुख्यमंत्री नीतीश कुमार के टिप्पणी से आक्रोशित रालोसपा कार्यकर्ताओं ने फूंका सीएम का पुतला24 घंटे से गटर में जिंदगी से लड़ रहा है दीपक , अब नही मिला कोई सुराग , रेस्क्यू जारीगोपालगंज में ऑर्केस्ट्रा के नाबालिक नर्तकी के साथ रेप , शो कर के वापस लौट रही थीजगदीशपुर में भाजपा नगर मंडल की हुई बैठक , लोकसभा चुनाव को लेकर भाजपाइयों ने कसा कमरजगदीशपुर में जदयू ने सरदार पटेल की आयोजित जयंती समारोह धूमधाम से मनायाअदौरी खोरी पाकर पुल निर्माण सँघर्ष समिति ने बनायीं मानव श्रृंखलामेनहोल में गिरे दीपक का 16 घंटे बाद भी नही मिला सुराग , रेस्क्यू जारी , मासूम के लिए दुआ मांग रहा बिहारतेज रफ्तार का कहर: ट्रैक्टर ने किसान की ले ली जान, मुआवजा के लिए सड़क जाम ,हंगामा

मिलिए किशनगंज के नए डीएम महेंद्र कुमार से, माँ लगाती थी झाड़ू, बेटे को बनाया डीएम

किशनगंज[विजय कुमार]। बिहार सरकार ने शुक्रवार की रात बड़े पैमाने पर प्रशासनिक फेरबदल करते हुए 21 जिलों के डीएम और 17 जिलों के एसपी सहित 55 अनुमंडलों के एसडीओ का तबादला कर दिया हैं। इस तबादले की लिस्ट में किशनगंज के डीएम, एसपी, एसडीपीओ और एसडीओ का नाम भी शामिल हैं।

जानिए कौन होंगे किशनगंज के नए डीएम:

2010 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी है महेंद्र कुमार। इससे पहले वो भारतीय रेल सेवा में भी अपना योगदान दे चुके हैं। बताते चले कि निवर्तमान डीएम पंकज दीक्षित भी 2010 बैच के ही अधिकारी हैं। बताते चले की पंकज दीक्षित का गृहराज्य उत्तर प्रदेश है लेकिन उन्हें बिहार कैडर मिला, दूसरी ओर महेंद्र कुमार का गृहराज्य भी बिहार ही है।

महेंद्र कुमार ने अपने दूसरे प्रयास में 37वी रैंक के साथ सिविल सेवा की परीक्षा में सफलता हासिल की थी। प्रथम प्रयास में इन्होंने इंटरव्यू तक का सफर तय किया था। इन्होंने लोक प्रशासन और मनोविज्ञान विषयो के साथ परीक्षा में सफलता प्राप्त की थी।

विकट आर्थिक परिस्थितियों में की पढ़ाई, माँ थी चतुर्थ वर्गीय कर्मचारी

आईएएस महेंद्र कुमार की पढ़ाई-लिखाई बड़ी कठिन आर्थिक परिस्थितियों के बीच हुई। इनके बचपन मे ही पिताजी का देहांत हो गया था। इनकी माँ ने चतुर्थ वर्गीय कर्मचारी होने के बावजूद बच्चों की शिक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता दी।

महेंद्र कुमार तीन भाइयों में सबसे छोटे है। उनके दोनों बड़े भाई भी उच्च शिक्षा ग्रहण कर अच्छे मुकाम पर है। बड़े भाई वीरेंद्र रेलवे इंजीनियर तो मंझले भाई धीरेंद्र डॉक्टर हैं।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Show Buttons
Hide Buttons