Breaking
पूर्व मध्य रेल के GM एलसी त्रिवेदी ने डिहरी-ऑन-सोन तथा सासाराम रेलवे स्टेशन का किया निरीक्षणनालंदा में निकला बेरोजगारी हटाओ , आरक्षण बढ़ाओ रथ , PM मोदी को बताया अन्याय का प्रतीकनालंदा में युवक ने किया सुसाइड , पर्चे में लिखा आत्महत्या की वजहसरहद की रक्षा करने वाले भाई की बहन ने कर लिया सुसाइड , वजह जान हैरान हो जाएंगेकड़ी निगरानी के बीच बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा की पहली पाली की परीक्षा शुरूबिहार बोर्ड की Matric परीक्षा आज से शुरू , घर से निकलने से पहले जान ले ये नया नियमबिहार में दो जिलों के SP बदले , दीपक बर्णवाल बने मधुबनी के SP , औरंगाबाद के भीबिहार में 41 प्रखंडों के बीडीओ बदले , 99 CO का भी तबादलानालंदा में शिक्षा माफियाओं धांधली , परीक्षा में रजिस्ट्रेशन के नाम पर पैसे की अवैध उगाहीनालंदा में पूर्व मुखिया का दबंगई , स्कूल में जड़ दिया ताला , कहा – मेरा जमीन है

वेलेंटाइन डे स्पेशल: प्रेम का प्रतीक है वेलेन्टाईन डे

जिस त्योहार को धार्मिक रुप देने के लिए चर्च ने सम्राट क्लैडियस द्वितीया के शासन कालीन संत को वेलेन्टाईन डे के नाम से जोड़ दिया l वह त्योहार आज धार्मिक रंग रुप को पीछे छोड़कर आज आधुनिकता के परिवेश में उपभोक्तावाद एंव सतही सम्बंधों के साथ आगे बढ़ गया है l यह त्योहार अपने आधार भूत रुप में प्रेम का प्रतीक है l यह वहीं प्रेम है जिसके बारे में कहा गया है कि प्रेम न बाड़ी उपजे , प्रेम न हाट बिकाये उसी प्रेम का मूल्य अब बाजार भाव के रुप में आंका जाने लगा है l 14;फरवरी को वेलेन्टाईन डे के रुप में प्यार के त्योहार के लिए तय किया गया है l क्योंकि यही वह पुर असर वक्त है जब विभिन्न प्रकार के नरमादा परिन्दे शारीरिक सम्बंध स्थापित करते है l यही वक्त है जब धरती के समस्त प्राणियों में भी प्रेम लबालब भर जाता है l कहते हैं इश्क पर कितना भी पहरे क्यों न बिठायें जाए यह सारे बंधनों को तोडयकर अपनी मंजिल पा ही लेती है l और प्यार के जज्बे का नाम है वेलेन्टाईन डे l संकोतों की भाषा है प्यार और  वेलेन्टाईन डे के इस पल को सहेजने और अपने महबूब के साथ फिर एक बार मिलने के लिए बेकरार हो जाते हैं l 14 फरवरी के पहले सात फरवरी को रोज डे मनाया जाता है l और आठ फरवरी को प्रपोज डे के रुप में मनाया जाता है l अगर आपको अपनी भावनाओं को व्यक्त करना हो तो फिर फूलों का सहारा लिजिये l ऐसे में अगर हाथ में गुलाब हो तो फिर क्या कहने प्यार के इजहार में शुरु से ही इसका इस्तमाल होता आया है l हां अगर गुलाब लाल या गुलाबी हो तो इसका और महत्व और बढ़ जाता है l वैसे तो 14 फरवरी को वेलेन्टाईन डे है l मगर भारत जैसे रुढ़ीवादी एंव परंपरावादी देश प्रेम की अभिव्यक्ति सार्वजनिक तौर पर करने की अनुमति नहीं देती है l फिर भी युवा वर्ग इससे बेपरवाह वेलेन्टाईन डे प्रेम पर्व के रुप में मनाते !

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Show Buttons
Hide Buttons