Breaking
अपने पति के घर मे छुपी थी पूर्व मंत्री मंजू वर्मा , कोर्ट में सरेंडर करते ही हो गई बेहोशअपराधियों ने अभी अभी युवक को सिर में मारी गोली मौत, पुलिस पहुंची घटनास्थल परमुख्यमंत्री नीतीश कुमार के टिप्पणी से आक्रोशित रालोसपा कार्यकर्ताओं ने फूंका सीएम का पुतला24 घंटे से गटर में जिंदगी से लड़ रहा है दीपक , अब नही मिला कोई सुराग , रेस्क्यू जारीगोपालगंज में ऑर्केस्ट्रा के नाबालिक नर्तकी के साथ रेप , शो कर के वापस लौट रही थीजगदीशपुर में भाजपा नगर मंडल की हुई बैठक , लोकसभा चुनाव को लेकर भाजपाइयों ने कसा कमरजगदीशपुर में जदयू ने सरदार पटेल की आयोजित जयंती समारोह धूमधाम से मनायाअदौरी खोरी पाकर पुल निर्माण सँघर्ष समिति ने बनायीं मानव श्रृंखलामेनहोल में गिरे दीपक का 16 घंटे बाद भी नही मिला सुराग , रेस्क्यू जारी , मासूम के लिए दुआ मांग रहा बिहारतेज रफ्तार का कहर: ट्रैक्टर ने किसान की ले ली जान, मुआवजा के लिए सड़क जाम ,हंगामा

नवरात्री : छाती पर 9 कलश रखकर लाल बाबा कर रहे है मां दुर्गा की आराधना

रिपोर्ट तारकेश्वर प्रसाद

आरा। मां दुर्गा की आराधना का विशेष आज से नवरात्र प्रारंभ हो चुका है. इस अवसर पर लोग अपनी श्रद्धा के साथ देवी की आराधना करते हैं. नवरात्रि के मौके पर आस्था का अद्भुत दृश्य देखने को मिला भोजपुर जिले के शहर नवादा थाना क्षेत्र के आंनद नगर मोहल्ले में बतादें कि 57 वर्षीय लाल बाबा ने एक अनूठे तरीके से मां दुर्गा की आराधना शुरु की है.

वह पूरे नवरात्र पर्व के दौरान जमीन पर लेटे रहेंगे और अपनी छाती पर गंगाजल से भरे एक के ऊपर एक 9 कलश रखकर मां दुर्गा की आराधना कर रहे है .लाल बाबा की छाती पर से ये कलश इस पर्व के अंतिम दिन यानी विजयदशमी को हटाए जाएंगे. उन्होंने बताया कि उन्हें महसूस ही नहीं हो रहा है कि उनकी छाती पर कुछ भी रखा हुआ है. उन्होंने कहा कि ऐसा करने में वे जो अपार हर्ष महसूस कर रहे हैं उसे वे बयान नहीं कर सकते.ये सब माँ का महिमा है।वही उन्होंने कहा कि वे अपने को मां दुर्गा की संतान मानते हैं और इस दौरान मां दुर्गा उनका ख्याल रखती है।भोजपुर जिला आंनद नगर निवासी लाल बाबा 2010 से ऐसा करते आए हैं और वे हर वर्ष कलशों की संख्या नौ रख काली मंदिर परिसर में रहकर के नवरात्र पर्व के दौरान हर साल अपनी छाती पर कलश रखे लेटे रहते है। लाल बाबा ने बताया कि जब वह माता का यात्रा से लौट रहे थे तो जब आंनद नगर मोहल्ले में स्थित मंदिर में आराम करने लगे तो यहां मां दुर्गा उनके सपने में आयीं और ऐसा करने को प्रेरित किया और कहा कि इस दौरान वे हमारा ख्याल रखेंगी.
नवरात्रि के शुरु होने से पूर्व ही लाल बाबा ने अपने को इसका अभ्यस्त बनाने के लिए पांच दिन पहले से ही अन्न और जल त्यागकर उपवास शुरु कर दिया था ताकि इस नौ दिनों के दौरान उन्हें उसकी कोई आवश्यकता महसूस नहीं हो.विजयदशमी को सीने पर से इन कलशों को हटाए जाने के बाद ही लाल बाबा फलों के रस का सेवन कर अपना उपवास तोड़ेंगे . उनके सहयोग और देख भाल करने में मुकेश कुमार पासवान संतोष यादव कृष्णा सिंह गुलशन कुमार बिट्टू पांडे पुरुषोत्तम सिंह मोनू सिंह इत्यादि लोग हैं

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Show Buttons
Hide Buttons