Breaking
तेजप्रताप यादव बोले- हमेशा हमारे टच में रहते हैं ‘शत्रुघ्न अंकल’, पार्टी में आएं तो स्वागतबेटी के बाद CM केजरीवाल को जान से मारने की धमकीदो बदमाश ने डांसरों से की मारपीट गाली-गलौज, घर में लगाई आग, 14 पर हुआ एफ आई आर दर्जअयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण को लेकर जगदीशपुर के हिंदू युवाओं ने किया हवन पूजनछिनतई का विरोध करने पर अपराधियों ने फौजी सहित दो को मारी गोली, दोनों पटना रेफरफ़िल्म व कविता लेखन की कार्यशाला में बने फिल्मों का हुआ प्रदर्शनDLED प्रशिक्षु शिक्षकों का दो वर्षीय प्रशिक्षण का समापन सह सम्मान समारोहमोतिहारी में मुखिया के घर डबल मर्डर से इलाके में सनसनी, जांच में जुटी पुलिसहाथ जोड़कर जान की भीख मांगता रहा DSP, भीड़ ने पीट-पीटकर किया अधमराफ़िल्म मेकिंग व कविता की कार्यशाला का दूसरा दिन भी बनी 25 फिल्में ,कल होंगी प्रदर्शित कार्यशाला में निर्मित फिल्में

गाय के नाम पर हो रहे दलित-मुस्लिम-आदिवासियों की हत्या के खिलाफ 9 दिवसीय पदयात्रा सम्पन्न ।

दुमका/झारखंड/टुडे बिहार न्यूज [अफरोज अंसारी] :  9 दिसंबर 2018को झारखंड जनतांत्रिक महासभा का “झारखंड बचाओ देश बचाओ पदयात्रा” (1 दिसंबर से 9 दिसंबर 2018) . जो महगामा के भगत सिंह चौक से आराम्भ हुआ था और पथरगामा, गोड्डा, पोड़ैयाहाट, हंसडीहा, सरैयाहाट, मोहनपुर, देवघर, देवीपुर, मधुपुर, सारठ, सोनाराय ठाड़ी, जरमुंडी, जामा, महारो होते हुए हजारों की संख्या में पदयात्री दुमका तक पहुँची.

दुमका पहुचने के बाद सिदो कान्हू, बाबा साहेब अंबेडकर, बिरसा मुंडा, तिलका माँझी के प्रतिमा पर माल्यार्पण किया गया।
यह पदयात्रा दुधानी चौक, टीन बाजार चौक, पोखरा चौक, डीसी चौक होते हुए मेन बाजार चौक पर सभा करके पदयात्रा का समापन किया गया।झारखंड बचाओ देश बचाओ पदयात्रा का पहला चरण कोल्हान में 24 से 30 अक्टूबर 2018 घाटशिला से जमशेदपुर होते हुए रांची तक किया गया था।
पदयात्रा का दूसरा चरण संथाल परगना में 1 दिसम्बर से 9 दिसम्बर तक महागामा से गोड्डा, देवघर, मधुपुर होते हुए दुमका तक किया गया।

सभा को संबोधित करते हुए झारखंड जनतांत्रिक महासभा के बीरेंद्र कुमार ने कहा देश में जहाँ देश और झारखंड राज्य की जनता अपने बुनियादी समस्या रोजी रोटी रोजगार के सवाल से जूझ रही वहीं केंद्र तथा झारखंड राज्य की सरकार, भाजपा, RSS, बजरंग दल, विश्व हिन्दू परिषद जैसे फासीवादी ब्राह्मणवादी ताकत एक बार फिर से हिन्दुत्व के नाम पर धार्मिक उन्माद पैदा कर एक भय और ख़ौफ़ का माहौल पैदा करने का काम कर रही है। पूरे देश में गौमांस और गोरक्षा के नाम पर मुसलमानों, दलितों, आदिवासियों को मॉब लिंचिंग किया जा रहा है, मारा पीटा जा रहा है। केंद्र तथा राज्य की भाजपा सरकार जनता के रोजी रोटी रोजगार शिक्षा स्वास्थ्य के सवाल पर नाकाम साबित हुई है और जनता को इन सवालों से ध्यान भटकाने के लिए मंदिर मस्जिद के नाम पर हिन्दू मुस्लिम एकता को तोड़ना चाहती है। बाबा साहेब अंबेडकर के द्वारा बनाया संविधान जिसके तहत दलित, पिछड़े, आदिवासी, महिलाओं को हक़ अधिकार मिला भाजपा के सांसद विधायक इस संविधान को बदलने की बात कह रही है जिससे साफ मालूम होता है कि इन शोषित समाज के लोगों के मिले बराबरी का हक अधिकार खत्म करना चाहता है।
इस देश में संविधान तथा लोकतंत्र खतरे में है एक तरह का अघोषित आपातकाल लगा हुआ है। सरकार के जनविरोधी नीतियों के आवाज को बर्बरतापूर्ण तरीके से चुप करा देना चाहती है।
इस पदयात्रा के माध्यम से झारखंड जनतांत्रिक महासभा पूरे देश भर में मॉब लिंचिंग बन्द करने तथा इसमें शामिल दोषियों को सजा देने की मांग करती है।
जबसे केंद्र और राज्य भाजपा सरकार में आयी है तबसे झारखण्डी हक़ अधिकारों के कानूनों को परिवर्तन किया जा रहा है। रघुवर सरकार ने पहले सीएनटी/एसपीटी एक्ट में छेड़छाड़ करने का कोशिश किया गया। बाद में जनांदोलन को देखते हुए सीएनटी/एसपीटी एक्ट में छेड़छाड़ को वापस लेना पड़ा. लेकिन बाद में कॉरपोरेट लॉबी के हित में रघुवर दास भुमि अधिग्रहण अधिनियम कानून 2018 में संशोधन किया जिससे अब कारपोरेट को जमीन को लूट करने का खुला छूट दे दिया अब जमीन अधिग्रहण करने के लिए ख़ातियानी रैयत और ग्राम सभा की मंजूरी की भी जरूरत नहीं है जो झारखंडी हित के खिलाफ है। इस संशोधन को हमलोग वापस करने का माँग करते हैं।

पदयात्रा को समर्थन देने के लिये दुमका जिला के पारा शिक्षकों का एक समूहों ने समर्थन देने के लिए आया. पारा शिक्षकों ने सभी पदयात्रियों को माला पहनाकर स्वागत किया.

पदयात्रा को समर्थन देने के लिए गुजरात से इंडिजिन्स आर्मी ऑफ इंडिया के संस्थापक डॉ प्रफुल्ल वसावा एवं राज वसावा आये थे.

डॉ प्रफुल्ल वसावा ने कहाँ कि गुजरात हो या झारखंड छत्तीसगढ़ हो या ओडिशा जहां भी आदिवासी हितों का हनन होगा हमलोगों को एकजुट होकर संघर्ष करना होगा. देश के एसटी एससी ओबीसी को एकजुट होकर संघर्ष करना होगा।

राज वसावा ने कहा कि झारखंड में आदिवासी मूलवासी का हक अधिकार भाजपा के शासन काल मे सम्भव नहीं है, इस जालिम सरकार को उखाड़ फेंकने की जरूरत है।

मेरी निशा हेम्ब्रम ने कहाँ कि 56 इंच के सरकार से हम महिलाएं 56 सवाल करते है. बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाले लोगों को पता होना चाहिए कि देश में महिलाओं के लिए पहला स्कूल सावित्री वाई फुले और शेख फातिमा ने खोला था. लेकिन भजपा के सरकार में महिलाओं के ऊपर सबसे ज्यादा खतरा बढ़ा है.

सुरेंद्र मोहली ने कहा कि झारखंड में इस साल बारिश ठीक से नहीं हुआ धान का खेती चौपट हो गया. इधर सरकार अपने राजनीतिक फायदे के लिए एक जिला दो जिलों को सूखाग्रस्त घोषित करने में लगी है. हमलोग मांग करते हैं कि संपूर्ण झारखंड को सुखाकर क्षेत्र घोषित किया जाए।

दीपक रंजीत ने कहा कि झारखंड में जो स्थाई नौकरी है उसमें रघुवर सरकार बिहार बंगाल उत्तर प्रदेश दिल्ली के लोगों को लाकर भरा जा रहा है. और झारखंड के नौजवानों को अनुबंधन पर रखा जा रहा है. और जब अनुबंधन कर्मी सरकारी करण स्थायीकरण की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन करती है तो रघुवर सरकार की पुलिस उन्हें लाठी डंडा दिखाकर डराना का काम करती है. हमलोग मांग करते हैं कि झारखंड के तमाम अनुबंधन कर्मियों को सरकारीकरण स्थायीकरण किया जाए।

शिवेंदु कुमार ने कहा कि झारखंड़ सरकार ने 2001 में ST, SC, OBC का आरक्षण बढ़ाकर 50 से बढ़ाकर 73% किया जाय. हमलोग मांग करते है कि उससमय भी भाजपा सरकार था और अबभी भाजपा सरकार है. हमलोग मांग करते है कि SC, ST, EBC/MBC-OBC का आरक्षण बढ़ाकर 73% किया जाय.

सभा का संचालन अखिलेश कुँवर ने किया तथा धन्यवाद ज्ञापन अनूप महतो ने किया।

आज पदयात्रा में अंजनी, ललन प्रसाद, अनूप महतो, सुरेंद्र मोईली, राजू अंसारी, अमित, अंकुर महतो, लखींद्र टूडू, मनीष, चन्दन मण्डल, मनीष जायसवाल, अरविंद किस्कु, प्रेम मार्डी, राजीव कुमार, शिव चरण टुडू, गुरु टुडू, नावेल, जॉर्ज केरकेट्टा, शंभु कुँवर आदि लोग मुख्य रूप से उपस्थित थे।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Show Buttons
Hide Buttons